Educative Stories / शिक्षाप्रद कहानियाँ

 1. प्रेरणादायक - समस्या का निदान कैसे करें ?

एक शिक्षक ने अपने हाथ में पानी से भरा एक glass पकड़ते हुए class शुरू की | उन्होंने उसे ऊपर उठा कर सभी students को दिखाया और पूछा , ” आपके हिसाब से glass का वज़न कितना होगा?”

छात्रों ने उत्तर दिया-  "100gm… 150gm… 200gm…" .  

कुछ अन्य students  ने कहा - जब तक मैं इसका वज़न ना कर लूँ मुझे इसका सही वज़न नहीं बता सकता हूँ।

शिक्षक ने पूछा - लेकिन  मेरा सवाल है, यदि मैं इस ग्लास को थोड़ी देर तक इसी तरह उठा कर पकडे रहूँ तो क्या होगा ?”

कुछ नहीं’ …छात्रों ने कहा। 

अच्छा , अगर मैं इसे इसी तरह एक घंटे तक उठाये रहूँ तो क्या होगा ?”, शिक्षक ने पूछा। 

आपका हाथ दर्द होने लगेगा’, एक छात्र ने कहा। 

तुम सही हो, अच्छा अगर मैं इसे इसी तरह पूरे दिन उठाये रहूँ तब क्या होगा?”

आपका हाथ सुन्न हो सकता है, आपके muscle में भारी तनाव आ सकता है , लकवा मार सकता है और पक्का आपको hospital जाना पड़ सकता है”….किसी छात्र ने कहा, और बाकी सभी हंस पड़े…

“बहुत अच्छा , पर क्या इस दौरान glass का वज़न बदला?”  शिक्षक ने पूछा। 

छात्रों ने उत्तर दिया। .."नहीं". 

तब भला हाथ में दर्द और मांशपेशियों में तनाव क्यों आया?  Students अचरज में पड़ गए। 
फिर  शिक्षक ने पूछा, ”अब दर्द से निजात पाने के लिए मैं क्या करूँ?”

ग्लास को नीचे रख दीजिये! एक छात्र ने कहा। 

बिलकुल सही! शिक्षक ने कहा। 


शिक्षा :- Life की problems भी कुछ इसी तरह होती हैं। इन्हें कुछ देर तक अपने दिमाग में रखिये और लगेगा की सब कुछ ठीक है। उनके बारे में अधिक देर सोचिये और आपको पीड़ा होने लगेगी। और इन्हें और भी देर तक अपने दिमाग में रखिये और आपको समस्याएँ पैदा करने लगेंगी और आप कुछ नहीं कर पायेंगे। 

अपने जीवन में आने वाली चुनातियों और समस्याओं के बारे में सोचना ज़रूरी है, पर उससे भी ज्यादा ज़रूरी है दिन के अंत में सोने जाने से पहले उन्हें नीचे रखना। इस तरह से , आप stressed नहीं रहेंगे| आपको Stress Management करना सीखना होगा। आप हर रोज़ मजबूती और ताजगी के साथ उठेंगे और सामने आने वाली किसी भी चुनौती का सामना कर सकेंगे। 


                          2. प्रेरणादायक  - सफलता कब मिलती हैं ?

एक बार एक नौजवान लड़के ने अपने शिक्षक से पूछा कि सफलता का रहस्य क्या है?

शिक्षक  ने उस लड़के से कहा -" कि तुम कल मुझे नदी के किनारे मिलो फिर मैं तुम्हे सफलता का रहस्य बताता हूँ। फिर शिक्षक  ने नौजवान से उनके साथ नदी की तरफ बढ़ने को कहा। और जब आगे बढ़ते-बढ़ते पानी गले तक पहुँच गया। 

तभी अचानक शिक्षक ने उस लड़के का सर पकड़ के पानी में डुबो दिया। लड़का बाहर निकलने के लिए संघर्ष करने लगा।  लेकिन शिक्षक ताकतवर था और उसे तब तक डुबोये रखे जब तक की वह असहज नहीं होने  लगा

फिर शिक्षक ने उसका सर पानी से बाहर निकाल दिया और बाहर निकलते ही उस लड़के ने सबसे पहले प्रतिक्रिया की। वह थी हाँफते-हाँफते तेजी से सांस लेना। 

शिक्षक  ने पूछा , जब तुम वहाँ थे तो तुम सबसे ज्यादा क्या चाहते थे? लड़के ने उत्तर दिया, "सांस लेना। "शिक्षक ने कहा, "यही सफलता का रहस्य है।  जब तुम सफलता को उतनी ही बुरी तरह से चाहोगे जितना की तुम सांस लेना चाहते थे, तो वह  तुम्हे मिल जाएगी।  इसके आलावा और कोई रहस्य नहीं है। 

शिक्षा  :- दोस्तों, अगर छोटे बच्चों की तरह , न past में जीते हैं , न future में , वे हमेशा present में जीते है। और जब उन्हें खेलने के लिए कोई खिलौना चाहिए होता है या खाने के लिए कोई टॉफ़ी चाहिए होती है। तो उनका पूरा ध्यान, उनकी पूरी शक्ति बस उसी एक चीज को पाने में लग जाती है और अंतत वह उसे पा कर ही मानते हैं। 

इसलिए सफलता पाने के लिए FOCUS बहुत ज़रूरी है| सफलता को पाने की जो चाहता है उसमे intensity होना बहुत ज़रूरी है| और जब आप फोकस कर  लेते हैं तो सफलता आपको मिल ही जाती है। 

अगर आपको हमारी Story अच्छी लगी हो तो अपने दोस्तों के साथ भी Share कीजिये और Comment में अवश्य बताए की हमारी स्टोरी आपको कैसी लगी। 

धन्यवाद !!!

Post a Comment

0 Comments