How to be happy / खुश कैसे रहें ...

"खुश रहना व्यक्ति की परिस्थिति से अधिक 
उसके नजरिये पर निर्भर करता हैं। "

दोस्तों ,आपने लोगों को अक्सर ये पूछते सुना होगा कि हम खुश कैसे रहे हैं ? खुश रहना तो सभी चाहते हैं लेकिन Life में समस्या में अधिक ध्यान होने से खुश हो नहीं पाते। इससे सम्बंधित एक कहानी लेकर में आज आपके सामने आया हूँ।


एक बार राजा ने अपने दरबारी को कुछ समझने के लिए  तीन अंधों को दरबार में बुलाया और तीन अंधों के साथ एक हाथी को भी बुलाया। 

राजा ने उस हाथी को बीच दरबार में खड़ा कर दिया और उनमे से एक अंधे को हाथी की पूंछ के पास ,दूसरे अंधे को हाथी  के पैर  के पास और तीसरे अंधे को हाथी  के पेट के पास खड़ा कर दिया। 

राजा ने अन्धो से कहा छू  कर बताओ ये क्या हैं ?
पहले अन्धे ने जैसे ही पूंछ को छुआ वो डर गया और उसने कहा - राजन यह तो सांप हैं। 

राजा दूसरा अंधा जो हाथी  के पैर के पास खड़ा था उससे भी  पूछा -तुम बताओ यह क्या हैं ?
दूसरा अंधा हाथी के पैर  को पकड़ कर बोला -राजन यह तो कोई पेड़ का तना महसूस हो रहा हैं। 

अब राजा ने यही प्रश्न तीसरा अंधा जो हाथी  के पेट के पास खड़ा था उससे भी पूछा । तब तीसरा अंधा हाथी  के पेट को छू कर बोला - राजन यह तो कोई खुरदुरी दीवार  लग रही हैं। 

अब राजा सभी दरबारी से प्रश्न करता हैं बताओ हाथी एक हैं या अलग अलग। जब आप सभी देख रहे हैं हाथी  एक ही हैं तो फिर किसी ने उसको सांप , किसी ने पेड़ का तना और किसी ने उसको खुरदुरी दीवार  बताया ,ऐसा क्यों ?

इसका बहुत सुन्दर उत्तर वहाँ उपस्थित एक दरबारी देता हैं। दरबारी कहता हैं महाराज ,पहला अंधा सिर्फ पूछ से ,दूसरा अंधा सिर्फ पैर से और तीसरा अंधा  सिर्फ पेट छू कर ही सारा अंदाजा लगा रहे हैं यदि वे सभी हाथी  के सभी अंगो को छूते तो समझ जाते कि  ये वास्तव में हाथी हैं। 

किसी सामान परिस्थिति को हम कैसे देखते हैं इस पर हमारा खुश होना निर्भर करता हैं। हमारा खुश रहना पूर्णतः हमारे नजरिये पर निर्भर करता हैं यह आप पर निर्भर करता हैं Life किसी कमी को ध्यान रखकर उदास होना हैं या Life की ढेरों खुशी में खुश होना हैं। 

पानी से आधा भरे हुए  ग्लास को देखकर आपकी सोचने की क्षमता का अंदाजा लगाया जा सकता हैं  कुछ लोग उसे आधा खाली देखकर उदास होंगे ,कुछ आधा भरा देखकर थोड़ा खुश होंगे लेकिन बुद्धिमान उसे आधा पानी से भरा हुआ और आधा हवा से भरा हुआ देखकर सदैव खुश और प्रशन्न रहते हैं। 

Scientific Research में भी कहा गया हैं आपका खुश रहना आपके Health को Improve करता हैं।

माना Life में उदासी के कारण होंगे लेकिन खुश होने के कारण भी अनेकों होंगे। इस धरती में मनुष्य ही ऐसा प्राणी हैं जिसे ईश्वर ने मुस्कुराने का वरदान दिया हैं इसलिए ईश्वर के इस वरदान का सदुपयोग कीजिए और थोड़ा मुस्कुराये। 
                             अगर आपको हमारी Story अच्छी लगी हो तो अपने दोस्तों के साथ भी Share कीजिये और Comment में अवश्य बताये की हमारी Story आपको  कैसी लगी। 


Post a Comment

0 Comments