" Motivational Thoughts " / " Inspirational Quotation About Life"

 हर पतंग को एक दिन कचरे में जाना  हैं ,

लेकिन उसके पहले उसे आसमान छू कर दिखाना हैं। ... 



  • ध्यान दे पतंग अपनी काबिलियत के बल पर उड़ती  हैं और साधरण कागज का टुकड़ा अपनी किस्मत के बल पर उड़ता हैं ,कागज से बनी नाव अधिक लम्बा सफर तय करती हैं तो वही कागज टुकड़ा कुछ समय बाद गल जाता हैं ,और अपनी शख्सियत  खो देता हैं। 
 
  • आप सभी को पता हैं कागज़ की पतंग का जन्म कुछ समय के लिए होता हैं समय होने पर उसका फटना, कटना या खराब होना निश्चित हैं लेकिन उसका जन्म फटने , कटने या गिरने के लिए नहीं होता हैं  उसका जन्म का उद्देश्य  तो आसमान को छूना ही होता हैं। 
  • आप को पता किसी भी बस्तु हो या इंसान एक दिन उसे कचरे में मतलब मिटना निश्चित हैं पर उसके पूर्व उसे ऊंचाई  पाना अर्थात सफल होना ही उसका ध्येय होता हैं। मतलब कुछ हासिल करना ही उद्देश्य होता  हैं । 

  • आपको इस बात को जानना आबश्यक हैं की आखिर ऊपर वाले ने इतना time दे कर आपको  इस धरती पर इंसान क्यों  बना कर भेजा हैं आखिर वो आप से कुछ special  कराना  चाहते हैं। 
  • ऐसे में कुछ ज्ञानी लोग मिलते हैं वो कहते क्या लेकर आये थे क्या लेकर जाओगे , मतलब कुछ न करने की   प्रेणना  देंगे।  दोस्त  यदि भगवान ने आपको कुछ करने के लिए capable  बनाया हैं तो उसे अवश्य करें , मेरा मानना हैं ये सब कामचोर लोग होते हैं जो नीरसता पूर्ण  बात कर आपका मनोबल गिरते हैं ,यदि आपको खुद के लिए किसी चीज़ की आवश्कता नहीं हैं तो दूसरों के लिए वो चीज़ हासिल करो और उन्हें दो , शायद भगवान  ने  आपको उनकी मदद के लिए ही इस काबिल आपको  बनाया हैं। 
  • आज में आपसे में कहना चाहता हूँ negative बात करने वाले  लोग virus  की तरह हैं इनसे दूर रहे , और social  distancing  बनाए।   क्योंकि यदि आप अपने आपको हर स्थान , स्तिथि में  सर्वश्रेष्ठ बनाना चाहते हैं  ,जब घर पर हो तो अच्छे  माता पिता बनो , जब ऑफिस में हो तो अच्छा काम करों आप जिस फील्ड में हो टॉप रहने का प्रयास करो।
  •  कुछ लोग कहेंगे इतना पैसा कमाने  से क्या फायदा ? ये बात सही भी हैं पर यदि आपको इस काबिल बनाया हैं पैसा कमाओ और दान कर दो , ना जाने भगवान ने आपके द्वारा ही कितने लोगो के लिए भोजन का इंतज़ाम किया हो।
  • आप उस पैसे  से hospital , shelter  बनवा देना ताकि असहाय लोगो की मदद हो सके कहने मतलब हैं  ,यदि ईश्वर ने ,प्रभु  ने आपको काबिलियत , ज्ञान और क्षमता दी हैं तो उसे ऐसे ही मत खराब होने देना , आप अपनी योग्य के द्वारा  earn  कर सकते हैं  और दूसरों की मदद कर सकते हैं ।
  • फर्क इस बात से नहीं पड़ता आप कितने सफल ,फर्क इस बात  से पड़ता हैं की आपने उतनी सफलता हासिल की जितनी आप में  योग्यता थी यदि आप में 100 तक पहुंचने की योग्यता थी , पर आप 50 पर ही रुक गए हैं और आपके साथी  10 पर हैं तो साथी की तुलना में आप सफल माने  जाओगे  परन्तु वास्तविकता में आप सफल नहीं हुए क्योंकि आप में योग्यता तो 100 तक पहुंचने की थी।                                                                           किसी भी मशीन की इज़्ज़त तब होती है जब वो १०० % efficient हो ,किसी भी गाडी की  इज़्ज़त तब होती जब वह टाइम पर पहुँचती हैं अगर आपकी market value अच्छी बनाई हैं तो उसे maintain  भी बनाये।       

Post a Comment

0 Comments