How can you be successful / (आप सफल कैसे बन सकते हैं )

एक गाँव में मेला लगा हुआ था उस मेले में एक गुब्बारेवाला गुब्बारा बेच  रहा था और उस मेले में बच्चो को आकर्षित करने एक नीले रंग का गुब्बारा वह कुछ समय के बाद  छोड़ रहा था और यह देख बच्चे  उसके पास आते और गुब्बारा खरीदते , दूर खड़ा लड़का भी ये सभी दृश्य observe  कर रहा था। 
                           उस लड़के ने पास आकर ,उस गुब्बारे वाले से जिज्ञाशावश पूछा - क्या यह नीले रंग का गुब्बारा  ही इतना ऊँचा  दूर हवा में जाता हैं और यदि आप नीले के अलावा पीले रंग का गुब्बारा हवा में छोड़े तो क्या वो भी इतना ही हवा में दूर जायेगा।


                              यही प्रश्न हम अपने अनेक बार स्वयं से पूछते हैं साधारणतः हम सोचते क्या कोई व्यक्ति अपने वाहरी आवरण के कारण  सफल हो रहा हैं क्योंकि  हमको क्या दिखाई देता हैं यदि कोई सफल हैं तो उसके पास गाड़ी  होगी ,उसके पास अच्छे कपडे होंगे ,अच्छे status  को वो maintain  कर रहा होगा। हमें लगता हैं यही सफलता का आधार हैं। 
                               ऐसा नहीं हैं व्यक्ति उन चीज़ो से सफल नहीं बना हैं वल्कि सफल होने के बाद  उसके द्वारा उन्हें अर्जित किया गया हैं तो आखिर सफल किस चीज़ ने किया ?

यही सार्वभौमिक प्रश्न  बच्चा पूछ  रहा हैं क्या कोई चीज़ अपनी वाहरी आवरण से सफल होती हैं  यानी नीले रंग का गुब्बारा ही हवा में दूर तक जायेगा। तो गुब्बारेवाले का उत्तर ही हमारी सफलता प्राप्ति का उत्तर हैं  गुब्बारेवाला उस लड़के से  कहता हैं - बेटा ,यह गुब्बारा अपने रंग ,रूप के कारण  हवा में नहीं जा रहा हैं यह तो अपने अंदर भरी gas  के कारण  हवा में उड़ रहा हैं।
   
प्रश्न यही हैं आखिर इंसान किस चीज़ से तरक्की पाता हैं ? वह हैं उसका सकारात्मक नजरिया ,उसका confidence , self confidence , और सबसे जरुरी ' you before me ' की सोच मतलब अपने बारे में सोचने से पहले, दूसरों के बारे में  सोचना  । 

ये सभी बातें यदि हमारे व्यक्तित्व में हो तो हम कह सकते हैं हाँ हम अपनी life  में सफल होने वाले हैं। 



                          


हर इंसान स्वयं से कभी न कभी अवश्य यह प्रश्न पूछता ही हैं कि  वह अपनी life में कहाँ  तक जाएगा  ,life  में आगे बढ़ने के लिए क्या जरुरी हैं ? उसकी क्षमता क्या हैं ? उस लक्ष्य को पाने के क्या resources  उपलब्ध  हैं? आखिर इन सभी बातों का निर्धारण किस चीज़ से होता हैं...

थोड़ा सोचिये और इन सभी भ्रामक बातों  से दूर रहिये... 
  • यदि कोई कंपनी विज्ञापन में दावा  करती हैं कि उसकी क्रीम लगाने से आप सुन्दर  हो जाएंगे  तो क्या आपका colour  बताएगा कि आप भविष्य में क्या करेंगे। 
  • कुछ लोग कहेंगे कि  शहरी परिवेश के लोग सफल होते हैं तो क्या हमारा बातावरण decide  करेगा कि सफलता  पाने के लिए शहरी माहौल आवश्यक हैं। 
  • कुछ लोग भाषा  के आधार पर आपकी योग्यता का निर्धारण करते हैं यदि आप इंग्लिश जानेगें तो ही आप पढ़े-लिखे  कहे जायेंगे अन्यथा नहीं। 
  • कुछ आपके कपड़ो से आपकी position  का अंदाज़ा  लगाएँगे , मतलब  महंगे कपडे हैं तो आप श्रेष्ठ हैं अन्यथा नहीं। 
  • कुछ लोग आपका  पैसा देख कर आपके पास आएंगे  और तभी आप सफल हैं अन्यथा नहीं। 
इसलिए इन सभी तथ्यों से दूर रह कर अपनी आंतरिक ऊर्जा को बढाइये और लक्ष्यों को पाने अनवरत प्रगतिशील बनिए। 

                                                                     धन्यवाद !!!

Post a Comment

5 Comments